कंगना रनौत को कहे अपशब्दों पर आज संजय राउत के वकील देंगे जवाब

मुंबई: बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत के पाली हिल के ऑफिस को गिराए जाने के मामले में कंगना की याचिका पर कल बॉम्बे हाई कोर्ट में सुनवाई हई, जिसमें हाई कोर्ट ने BMC की कार्रवाई पर सवाल उठाए. कोर्ट ने पूछा कि कंगना के दफ्तर से पहले की लिस्ट पर इस तरह की कार्रवाई क्यों नहीं की गई. वहीं सुनवाई के दौरान शिवसेना नेता संजय राउत की ऑडियो रिकॉर्डिंग कंगना रनौत के वकील ने गाली साबित करने के लिए चलाई. आज संजय राउत के वकील इस पर जवाब देंगे.  

मुंबई में अभिनेत्री कंगना रनौत के दफ्तर पर हथौड़ा तो एक बार चला लेकिन बॉम्बे हाई कोर्ट का हथौड़ा बीएमसी की कार्रवाई पर बार-बार चल रहा है. जेसीबी मशीन से कंगना के दफ्तर के जो छज्जे तोड़े गए, उस पर बीएमसी ने पूछा कि आखिर इतनी जल्दी क्या थी. कंगना मामले पर बॉम्बे हाई कोर्ट ने BMC को फटकार लगाते हुए पूछा है कि उसने पहले की लिस्ट पर इस तरह की कार्रवाई क्यों नहीं की. 

इन्हीं सवालों पर कल बॉम्बे हाई कोर्ट में जमकर बहस हुई. वहीं कंगना ने भी ठान लिया है कि शिवसेना ने कंगना से जो पंगा लिया है, उसका वो हिसाब-किताब सूद-समेत वापस लिए बिना चुप नहीं बैठने वाली नहीं. और इसी को चुनौती देने के लिए कोर्ट में कंगना की टीम ने जमकर बहस की. 

कोर्ट में कंगना और शिवसेना की लड़ाई में कब, क्यों और कैसे कार्रवाई हुई, इस पर पूरी चर्चा हुई. कंगना के वकील की ओर से अदालत में पूरी जानकारी दी गई. कंगना के वकील की ओर से बताया गया कि कंगना रनौत की ओर से सरकार की आलोचना हुई थी. कंगना ने मुंबई पुलिस के काम पर सवाल खड़े किए थे जिसके बाद शिवसेना नेता संजय राउत की ओर से उन्हें पाठ पढ़ाने की बात कही गई थी. 

कंगना के वकीलों की कोशिश यही थी कि वे साबित कर सकें कि बीएमसी की कार्रवाई एक बदले की कार्रवाई थी और यही वजह है कि कंगना के तमाम ट्वीट की जानकारी भी अदालत में पेश की गई. इसी के साथ संजय राउत के एक ऑडियो क्लिप को भी अदालत ने सुना जिसमें संजय राउत ने कंगना के खिलाफ आपत्तिजनक शब्द का इस्तेमाल क्या था. 

पहले कंगना के वकील के तर्कों पर जज ने उनसे कंगना के सभी ट्वीट दिखाने को कहा गया. वो ट्वीट्स जिनमें कंगना रनौत और शिवसेना नेता संजय राउत के बीच कैसे जुबानी जंग छिड़ी थी जिसके बाद ही ये पूरा मामला बढ़ता चला गया था, और कंगना के दफ़्तर पर बुलडोजर चलाने के बाद और भड़क उठा था. 

कंगना के वकीलों ने हाई कोर्ट को बताया कि बीएमसी से किसी ने भी दफ्तर का कभी मुआयना नहीं किया था और न ही कंगना को कोई मोहलत दी गई. इस दौरान वकील ने कंगना दफ्तर को हुए नुकसान की जानकारी पेश की, और बीएमसी की कार्रवाई से पहले और बाद की दफ्तर की तस्वीरें दिखाईं.  

इस दौरान कंगना के वकील ने दलील दी कि कंगना के दफ्तर में कोई नया काम भी जारी नहीं था. ऐसे में यदि कुछ अवैध था भी तो कंगना को उसे ठीक करने के लिए वक्त दिया जाना चाहिए था. कोर्ट में कंगना के वकील भी पूरे एक्शन में थे. BMC की कार्रवाई पर वो पूरी तैयारी के साथ आज बहस कर रहे थे. वहीं इस पूरे मामले में संजय राउत की भूमिका को वो कठघरे में रखने की कोई कसर नहीं छोड़ रहे थे. 

कोर्ट के कहने पर कंगना के वकीलों ने कोर्ट को वह वीडियो क्लिप सुनवाई जिसमें राउत ने कंगना पर विवादित बयान दिया था. संजय राउत ने बिना नाम लिए आपत्तिजनक शब्दों का इस्तेमाल किया था जिस पर कोर्ट में मौजूद संजय राउत के वकील ने आज हलफनामा दायर करने की बात कही, और ये भी साफ किया कि राउत ने जो भी कहा वो कंगना के बारे में नहीं कहा था. 

LIVE टीवी: 

 

 



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *